Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

नरेन्द्र मोदी की जीवनी Biography of Narendra Modi in Hindi

 नरेन्द्र मोदी की जीवनी

Biography of Narendra Modi in Hindi

 नरेन्द्र मोदी की जीवनी Biography of Narendra Modi in Hindi

नरेन्द्र मोदी की जीवनी Biography of Narendra Modi in Hindi

 हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्रमोदी जी जिन्हें किसी परिचय की जरुरत नहीं है।

देश के बच्चे से लेकर बृद्ध व्यक्ति भी उन्हें जानते है।

हमारे मोदी जी में कुछ तो विशेष जरुर है. उनकी सादगी में जो समर्पण छिपा हुआ है.

उससे कोई भी अनभिज्ञ नहीं है। देश के लिए उनके अन्दर  जो समर्पण भाव है, वो उनके कार्यों, और उनकी जीवनशैली में स्पष्ट दिखाई देता है।

 

जब मोदी जी मंच पर भाषण देते हैं. तब उनके हाथ में कोई पेपर नहीं होता। उनकी आवाज़ सिर्फ दिल से निकलती है और हर एक भारतीय के दिल तक पहुँचती है।

जब से मोदी जी हमारे देश के प्रधानमंत्री बने है, तब से अगर Notice किया जाये तो हमारे देश के युवाओं में देशभक्ति की एक लहर उत्पन्न हुई है।

 

 मोदी जी के कार्यकाल में हमारे देश में बदलाव जरुर आएगा।

जब किसी देश का प्रधानमंत्री निस्वार्थ भाव से सिर्फ देश की सेवा में जुट जाता है.

तो देश के नागरिक भी उनका अनुसरण करने लगते हैं।

हर भारतीय चाहता है कि देश में बदलाव आये, और वह इसके लिए योगदान देने के लिए तैयार भी है।

बशर्ते, कोई सही रास्ता दिखाने वाला मिल जाये।

 

मोदी जी से भारत के हर नागरिक को बहुत उम्मीदें हैं और मुझे पूरी उम्मीद है कि मोदी जी इन उम्मीदों  पर खरे जरुर उतरेंगे।

हाँ थोड़ा वक्त जरुर लागेगा क्योंकि हालत जिस तरह से बिगड़े हैं, उन्हें सुधरने में थोड़ा वक्त तो लगेगा ही,

पर अच्छे दिन आने वाले है ये सच है।

नरेन्द्र मोदी जी की Positive Energy जो सारे देश में फ़ैल रही है, उससे देश के नागरिक जागरूक होते दिखाई दे रहे हैं।

 

प्रारम्भिक जीवन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का जन्म 17 सितम्बर 1950 में हुआ था। मोदी जी का जन्म गुजरात के छोटे से कस्बे वड़नगर में हुआ।

उनके पिता का नाम दामोदर दास मोदी और माता का नाम हीरा बेन मोदी है। मोदी जी ने अपनी स्कूली शिक्षा वड़नगर में पूरी की।

RSS में काम करने के साथ- साथ उन्होंने गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त की।

 

मोदी जी बचपन से ही मुश्किलों का  सामना करते हुए आगे बढ़े। ये उन्ही गरीबों में से एक हैं जो गरीबी में पैदा होते हैं

और सारी जिन्दगी गरीबी में ही गुजार देते हैं। मगर मोदी जी ने दिखा दिया।

एक गरीब इन्सान भी अपनी सच्ची भावना और सच्ची लगन से कहाँ तक पहुँच सकता है।

उनके देशप्रेम और सच्ची लगन ने उन्हें देश का प्रधानमंत्री बना दिया।

 

मोदीजी एक बहुत ही गरीब परिवार से हैं। वो एक कच्चे मकान में रहते थे। उनके पिता रेलवे स्टेशन पर चाय की एक छोटी सी दुकान चलाते थे।

मोदी जी उनके साथ उसी दुकान में काम करते थे।

उनकी माँ को अपने बच्चों का पालन पोषण करने के लिए लोगों के घर बर्तन साफ करने का काम भी करना पड़ा।

इस संघर्ष भरे जीवन का मोदीजी के ऊपर बहुत गहरा प्रभाव पड़ा। शायद यही वजह है,

कि वह भारत के नागरिकों की तकलीफ महसूस कर सकते हैं।

मोदी जी बचपन से ही देशभक्त थे। 1962 में जब भारत और चीन के बीच युद्ध हुआ ।

वो स्टेशन पर जवानों से भरी ट्रेन में उनके लिये खाना और चाय लेकर जाते थे।

भारत और पाक युद्ध के दौरान भी मोदी जी ने जवानों की बहुत सेवा की।

 

मोदी जी का प्रधानमंत्री बनने का सफ़र

17 वर्ष की उम्र में उन्होंने घर छोड़ दिया. 2 वर्ष बाद घर लौटने पर उनका मकसद सिर्फ एक था “देश की सेवा”।

कुछ हफ्ते घर रुकने के बाद अहमदाबाद जाकर आर एस  एस के सदस्य बन गए।

आर एस एस एक संघठन है जो देश के सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक विकास के लिए कार्य करता है।

गुजरात RSS के पहले प्रान्त प्रचारक लक्ष्मण राव इनामदार ने नरेन्द्र मोदी को बाल स्वयंसेवक की शपथ दिलवाई थी।

मोदी जी RSS की शाखाओं में जाने लगे। मोदीजी बहुत ही मेहनती कार्यकर्ता थे।

 

गुजरात आरएसएस के दफ्तर हेडगेवार भवन में सुबह नरेन्द्र मोदी प्रचारकों के लिए चाय नाश्ता बनाते थे।

इसके बाद हेडगेवार भवन की सफाई का जिम्मा भी मोदीजी का ही था।

RSS के बड़े शिविरों के आयोजान का मैनेजमेंट मोदी जी ही किया करते थे।

RSS के नेताओं के ट्रेन का रिजर्वेशन और हेडगेवार भवन में आने वाली हर चिट्ठी को खोलने का काम मोदी जी का ही था

                                                   सुंदर पिचाई की जीवनी 

मोदीजी का समर्पण और कार्य करने की शैली को देखकर, आरएसएस ने उन्हें एक बड़ी जिम्मेदारी देने का फैसला किया.

इसके लिए उन्हें राष्ट्रीय कार्यालय नागपुर में विशेष ट्रेनिंग में बुलाया गया।

ट्रेनिंग के बाद मोदी जी गुजरात RSS के प्रचारक बनकर लौटे।

आरएसएस में उनके विभिन्न सफल कार्यों को देखकर उन्हें बीजेपी का नेता नियुक्त किया गया।

अक्टूबर 2001 में उन्हें गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त किया गया।

 

मोदीजी ने गुजरात को भारत का सबसे बेहतेरीन राज्य बना दिया। देश में पहली बार किसी राज्य में सभी नदियों को जोड़ा गया.

जिससे पानी की कमी दूर हो गयी। उन्होंने गाँव-गाँव में बिजली पहुँचाई। गुजरात के सभी गांवों को Internet से जोड़ा।

मोदी जी के कार्यकाल में गुजरात में बेरोजगारी काफी कम हुई। एशिया के सबसे बड़े सोलर पार्क का निर्माण गुजरात में हुआ।

गुजरात की जनता ने मोदी जी  को लगातार चार बार अपना मुख्यमंत्री नियुक्त किया।

 

गुजरात में मोदीजी की सफलता को देखकर 2014 में उन्हें प्रधानमंत्री उम्मीदवार चुना गया।

हमारे देश के लोगों ने श्री नरेन्द्र मोदी जी को भरी बहुमत से विजय दिलाई। और उन्हें भारत का 15 वाँ प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया।

26 मई 2014 को उन्होंने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली।

 

 

नरेन्द्रमोदी पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने स्वतन्त्र भारत में जन्म लिया।

प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने कई विदेश यात्राएं की और सम्पूर्ण विश्व में  भारत की छवि को मजबूत किया।

जिससे भारत में विदेशों द्वारा निवेश की संभावनायें बढ़ गयी।

मोदीजी ने जन धन योजना, स्वच्छ भारत अभियान, मेक इन  इंडिया, डिजिटल इंडिया जैसी कई योजनाओं की शुरुआत की।

श्री नरेन्द्रमोदी जी बहुत ही मेहनती व्यक्ति हैं, वे 18 घंटे काम करते हैं। वे शुद्ध शाकाहारी हैं, मोदीजी प्रतिदिन योग करते हैं.

वह नवरात्रों में नौ दिन उपवास रखते हैं। इसके साथ-साथ वह एक लेखक और कवि भी हैं।

 

हम सभी भारतवासियों को सारे देश को एकता के सूत्र में बाँधकर देश की उन्नन्ति में अपना योगदान जरुर देना चाहिए.

प्रधानमंत्री मोदी जी का सहयोग करना चाहिए. ताकि हमारा देश भी आगे बढ़े.

 

 

आइये जानते हैं  मोदी जी के कुछ प्रेरणात्मक कथन:-

1: मेरे लिए राजनीति एक महत्वाकांक्षा नहीं बल्कि एक मिशन है.

2: कड़ी मेहनत कभी थकान नहीं लाती बल्कि वह तो संतोष लाती है.

3: हम किसी व्यक्ति की सनक के हिसाब से सरकार नहीं चलाते, हमारा विकास सुधारों द्वारा संचालित है. हमारे सुधार नीति द्वारा संचालित है.

और हमारी नीतियाँ लोगों द्वारा संचालित हैं.

4: काम करने का अवसर मिलना सौभाग्य की बात है. मैं उसमे अपनी आत्मा डाल देता हूँ. ऐसा हर एक अवसर अगले अवसर के द्वार खोल देता है.

5: राजनीति में कोई पूर्णविराम नहीं होता.

6: मेरे जीवन में मिशन सबकुछ है Ambition कुछ भी नहीं, अगर मैं नगर निगम का अध्यक्ष भी होता तो भी उतनी ही मेहनत से काम करता,

जितना एक C.M. होते हुए करता हूँ.

7: दीपक की लौ के समान, ऊपर उठना हममें से हर एक की स्वाभाविक इक्षा है चलिए इस इक्षा का सम्मान करें.

8: हममें से हर किसी के अंदर अच्छे और बुरे दोनों गुण होते हैं. जो अच्छे गुणों पर ध्यान केन्द्रित करते हैं. वो ही जीवन में सफल होते हैं.

9: समाज की सेवा करने का अवसर हमें अपना ऋण चुकाने का मौका देता है.

 

 

FOR VISIT MY YOUTUBE CHANNEL

CLICK HERE

 

ये भी जरुर पढ़ें:

सुभाष चंद्रा बोस की जीवनी 

शिवाजी महाराज का जीवन परिचय

भगत सिंह का जीवन परिचय  

लाला लाजपत राय की जीवनी 

भीमराव अम्बेडकर की जीवनी  

स्वामी विवेकानंद का जीवन परिचय 

 

 

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Comments

  1. I have no words to say about this post.
    you define about narendra modi in a better way..

  2. kiran kumar says:

    Very nice post…….

  3. Nice

  4. Mangaldeep says:

    Priyanka ji bahut hi achha laga ye article bhi… http://onlinefreehelp.com

Speak Your Mind

*