बात जब अपने बारे में लिखने की आती है Hindi Poetry on writting

  बात जब आप अपने बारे में लिखने की आती है तो कलम रुक जाती है तो कलम रुक सी  जाती है तराशा है हमने शब्दों को कुछ इस तरह की हर एक कविता में जीने का सलीका सिखाती है कैसे करूं मैं बयां … [Read more...]

भीड़ में भीड़ से और तन्हाई में खुद भागते हैं हम हिंदी कविता Hindi Poetry on Give up

भीड़ में भीड़ से और, तन्हाई में खुद भागते हैं हम भरी दोपहर हो या आधी रात, नींद से चौक कर जागते है हम हैं यकीन नहीं आता इस झूठी सी जिंदगी पर सच सामने भी आए, तो उस सच को भी मापते हैं … [Read more...]

 पिंजरे का पंछी हिंदी कविता Heart touching Hindi Poem

  फर्क पड़ता है बहुत फर्क पड़ता है जब अपने घर के पिंजरे का पंछी अचानक आकर  जिद करने लगता है और उसकी ज़िद के आगे हमें सर झुकाना ही पड़ता है बहुत फर्क पड़ता है... जब उसकी ज़िद सही … [Read more...]

बाहर की दुनिया और भीतर की दुनिया Meaning of inner power in Hindi

हर इंसान के अंदर दो इंसान होते हैं एक बाहर और भीतर । भीतर का इंसान भी ठीक बाहर के इंसान की तरह होता है । भीतर का इंसान भी अंदर ही अंदर कुछ बोलता रहता है।   और बाहर का इंसान बाहरी दुनिया में मशरूफ हो … [Read more...]

प्यारी माँ हिंदी कविता Mothers’Day special poetry in Hindi

प्यारी माँ हिंदी कविता मां एक ऐसा शब्द जिसमें  सारी दुनिया समाई हुई है। कोई भी शब्द, वाक्य या एहसास न तो इस शब्द की बराबरी कर सकता है ना इस शब्द के पीछे छिपे त्याग समर्पण प्यार को … [Read more...]

दिखावे की दुनिया में कुछ नहीं दिखाना है मुझे Heart touching Hindi Poetry On Life

दिखावे की दुनिया में कुछ नहीं दिखाना है मुझे जो मेरे हिस्से का है कहे वह भी नहीं पाना है मुझे एक उम्र गुजारनी है हँसते हँसते आँसू की हर एक बूंद छीपाना है मुझे तमाम उम्र कौन जीता है दूसरों के … [Read more...]