दिखावे की दुनिया में कुछ नहीं दिखाना है मुझे Heart touching Hindi Poetry On Life

दिखावे की दुनिया में कुछ नहीं दिखाना है मुझे जो मेरे हिस्से का है कहे वह भी नहीं पाना है मुझे एक उम्र गुजारनी है हँसते हँसते आँसू की हर एक बूंद छीपाना है मुझे तमाम उम्र कौन जीता है दूसरों के … [Read more...]

ग़रीबी से मरना उतना बुरा नहीं है हिंदी कविता । heart touching Sad Hindi Poem

ग़रीबी से मरना उतना बुरा नहीं है हिंदी कविता । heart touching Sad Hindi Poem   ग़रीबी से मरना उतना बुरा नहीं है  जितना किसी का जीते जी मर जाना    किसी का क़त्ल कर देना … [Read more...]

बहुत अजीब हूँ मैं हिंदी कविता । Hindi Poetry on understanding myself

बहुत अजीब हूँ मैं हिंदी कविता । Hindi Poetry on understanding myself   कभी-कभी लगता है मैं कुछ अजीब सी हूँ  इस अजीब होने से भी ज़्यादा अजीब है  वो अजीबपन जो कभी मुझे अच्छा लगता … [Read more...]

न जाने क्यूँ….कभी कभी अपनी परछाइयों से भी डर लगता है । Sad Hindi Poem

न जाने क्यूँ....कभी कभी अपनी परछाइयों से भी डर लगता है । Sad Hindi Poem   न जाने क्यूँ.... कभी कभी अपनी परछाइयों से भी डर लगता है जब ये अपनी बड़ी- बड़ी आँखों से मुझे घूरती … [Read more...]