Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

हिंदी कहानी सही मार्गदर्शन Hindi story on guidance

हिंदी कहानी सही मार्गदर्शन

Hindi story on guidance

हिंदी कहानी सही मार्गदर्शन Hindi story on guidance

हिंदी कहानी सही मार्गदर्शन Hindi story on guidance

बहुत पुरानी बात है। पश्चिम जर्मनी में एक व्यक्ति था। उसका नाम जाइगर था। वह नौकरी की तलाश में था। नौकरी की तलाश करते-करते उसे एक कम्पनी में साफ़-सफाई करने का काम मिल गया।

वह अपना काम बड़ी ही ईमानदारी, लगन और निष्ठा से करता था। कुछ ही दिनों में वह मालिक के भरोसेमंद लोगों में से एक बन गया।

उसके साथ जो कर्मचारी काम करते थे, उसके प्रति मालिक के प्रेम और विश्वास को देखकर, उससे जलने लगे। और  चालबाजी से जाइगर को एक झूठे इलज़ाम में फँसा दिया। और बिना गलती  के उसे जेल जाना पड़ा।

जेल में रहते- रहते उसका एक गिरोह बन गया। जेल से बाहर निकलते ही यह गिरोह डकैती डालने लगा। बहुत ही जल्द जाइगर फिर से पकड़ा गया।

वापस जेल में आने के बाद उसे बहुत पश्चाताप हुआ कि “क्यों मैंने ये गलत काम किया जिसकी वजह से वापस मुझे जेल में आना पड़ा।”

एक दिन उसने साबुन के रेपर पर अपनी व्यथा कविता के रूप में लिख दी। उसकी यह कविता जेल के पादरी के हाथ लग गयी। पादरी को उसकी कविता अच्छी लगी। उन्हें महसूस हुआ कि इस व्यक्ति का सुधार रचनात्मक तरीके से हो सकता है।

पादरी ने जेल के अधिकारियों से आग्रह करके लिखने का सामन जेल में ही मँगवा दिया। उन्होंने जाइगर को लिखने के लिए प्रोत्साहित किया।

जाइगर ने अपना एक उपन्यास लिखना प्रारंभ कर दिया। जाइगर का मन लेखन में इतना रम गया कि उसे पता ही नहीं चला कि कब उसकी रिहाई का वक्त आ गया।

जब वह जेल से बाहर आया, तो उसने मजदूरी शुरू कर दी। मजदूरी के साथ वह अपना उपन्यास लिखता रहा। उसका उपन्यास दि फोंटेस के नाम से प्रकाशित हुआ। इस उपन्यास की वजह से वह सारी जर्मनी में प्रसिद्ध हो गया।

यह एक जेल में सजा काट रहे व्यक्ति की लेखक बनने की कहानी है, अगर वह पादरी जाइगर को लिखने  के लिए प्रोत्साहित नहीं करता, तो वह कभी भी अपनी क्षमता को पहचान नहीं पाता। और कभी भी एक प्रसिद्ध लेखक नहीं बनता।

इस कहानी से हमें ये शिक्षा मिलती है, कि सही मार्गदर्शन किसी इन्सान को कहाँ से कहाँ तक ले जा सकता है। एक साधारण से इन्सान में बहुत सारी क्षमतायें छिपी होती हैं। लेकिन हर इन्सान को एक सही मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है।

 

Friends अगर आपको ये Post “प्रेरणादायक हिंदी कहानी सही मार्गदर्शन Hindi story on guidance” पसंद आई हो तो आप इसे Share कर सकते है.

कृपया Comment के माध्यम से हमें बतायें आपको ये Post “प्रेरणादायक हिंदी कहानी सही मार्गदर्शन Hindi story on guidance” कैसी लगी.

 

FOR VISIT MY YOUTUBE CHANNEL

CLICK HERE

 

 

ये भी जरुर पढ़ें:

खुश रहने का राज़ हिंदी कहानी

dediction is necessary hindi story

सच्चा धर्म हिंदी कहानी

 

 

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Comments

  1. Dhirajpratap says:

    Very tru mam aap aisi kahaniyoon se sab ko morally support do bahut accha to aab issi kahani main se kuch incidents lekar aap bhi koi kavita baba lo ,mam u can make it jaisey mainey pehley bhi kaha haan aap kum shabdoon main bahut kuch kehtey haan

  2. Mangaldeep says:

    Aapka ye article mujhe bahut acha laga thank you 🙂 or bhi aisei ache ache article post karte rahe http://onlinefreehelp.com

  3. Very motivational, keep it sir…. http://www.hindivachan.in

  4. ek sadharan insan bhi apne sahash ke dam par duniya bdal sakta hai.
    http://www.hindivachan.com

Speak Your Mind

*