Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

क्षमा करना क्यों जरुरी है Hindi Article on forgiveness

क्षमा करना क्यों जरुरी है

Hindi Article on forgiveness

क्षमा करना क्यों जरुरी है Hindi Article on forgiveness

क्षमा करना क्यों जरुरी है Hindi Article on forgiveness

इस संसार में ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है। जिससे गलतियाँ नहीं होती हों। मैं हूँ या आप, सभी से गलतियाँ होती हैं।

लेकिन इन गलतियों को हम Past में जाकर सुधार नहीं सकते। आगे के लिए इनसे सबक जरुर ले सकते हैं। लेकिन एक बार की गई गलती को सुधार पाना असंभव है।

तो आखिर इस गलती को सुधारने  का केवल एक ही रास्ता है, वह है “क्षमा”

 

 क्षमा करने में देर नहीं करनी चाहिए

चाहे वह गलती हमसे हुई हो या किसी और से हमें क्षमा माँगने और क्षमा करने में देर नहीं करनी चाहिये। अगर आप किसी को क्षमा नहीं करते और सोचते हैं कि मैं उसकी ये बात जिन्दगी भर नहीं भूलूँगा। तो आपको ऐसा लगता जरुर है कि आप उस इंसान को सज़ा दे रहे हैं, पर असलियत में आप खुद को सजा दे रहे होते हैं।

क्षमा करके आप किसी पर कोई एहसान नहीं करते, बल्कि अपने मन को सुखी व हल्का कर लेते हैं।

 

लुईस बी स्मेडेस ने का कथन है :-

“माफ़ करने का मतलब है किसी कैदी को आज़ाद करना और ये जानना कि आप ही वो कैदी थे”

 

शोध में पाया गया है कि एक लम्बे समय तक क्रोध, जलन, नफरत , दुःख ये सारे विचार रखने से तन और मन दोनों बीमार हो जाते हैं। मन का शांत न होना कई सारी बीमारियों का कारण है। जिसके लिए क्षमा से अच्छी कोई दवा नहीं है।

 

अलैक्जेंडर पोप का कथन है :-

To error is human, to Forgive is divine

अर्थात  “त्रुटी करना मानवीय है, क्षमा करना ईश्वरीय”

 

ज्यादात्तर लोग ये सोचते हैं कि अगर हम क्षमा कर देंगे तो सामने वाला इंसान हमें कमज़ोर समझेगा, लेकिन सच कुछ और है, क्षमा करना दुर्बलता और कायरता का लक्षण नहीं है, बल्कि क्षमा तो वही व्यक्ति कर सकता है जिसके अन्दर आत्मविश्वास हो  और जो बुद्धिमान हो।

 

क्षमा माँगना भी है आवश्यक

क्षमा करने के साथ-साथ क्षमा माँगना भी उतना ही आवश्यक है. अगर  हमारे शब्दों या कर्मों से किसी को चोट पहुंची है, या  हमसे कोई गलती हुई है तो हमें क्षमा माँगने में देर नहीं करनी चाहिए।

क्योंकि यदि हम उस बोझ को ज्यादा दिन तक अपने मन पर रखेंगे, तो वह हमारे मन को पंगु बना देगा। और मन पर जो घाव लगा है, वो वक़्त के साथ-साथ नासूर बन जाएगा। इसलिए हमें अपने उपर बोझ लेकर चलने की जरुरत नहीं है।

क्षमा माँगने से अहंकार कम होता है और मन शांत होता है, लेकिन क्षमा दिल से मांगनी चाहिए और आगे याद भी रखना चाहिए कि वह गलती फिर से न हो।

क्षमा मांगने और क्षमा करने से आपको एक हल्कापन महसूस होगा।

इसलिए Friends क्षमा माँगने और करने में देर न करें।

 

Friends अगर आपको ये Post “क्षमा करना क्यों जरुरी है Hindi Article on forgiveness” पसंद आई हो तो आप इसे Share कर सकते हैं

कृपया  Comment के माध्यम से हमें बताएं आपको ये post “क्षमा करना क्यों जरुरी है Hindi Article on forgiveness” कैसी लगी.

 

FOR VISIT MY YOUTUBE CHANNEL

CLICK HERE

ये भी जरुर पढ़ें:-

खुश रहने की  कला

Stop Thinking and do someting

शिक्षित होने का सही मतलब

 

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Trackbacks

  1. […]  क्षमा करना क्यों ज़रूरी है DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें […]

  2. […]  क्षमा करना क्यों ज़रूरी है […]

Speak Your Mind

*