Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

न जाने क्या है इस खामोशी का सबब ।। Hindi poetry on Silence

न जाने क्या है इस खामोशी का सबब  Hindi poetry on Silence न जाने क्या है इस खामोशी का सबब बस यही अच्छी लगने लगी है अब   खामोश सी आँखे खामोश मुलाकातें बस यही बोलती रहती हैं … [Read more...]