Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Quotes of Aristotle in Hindi अरस्तु के अनमोल वचन

Quotes of Aristotle in Hindi

अरस्तु के अनमोल वचन

Quotes of Aristotle in Hindi अरस्तु के अनमोल वचन

Quotes of Aristotle in Hindi अरस्तु के अनमोल वचन

अरस्तु एक यूनानी दार्शनिक थे। उनका जन्म ३८४ BC में हुआ। उनके पिता ने उनका नाम अरस्तु रखा था। जिसका अर्थ होता है। ”The best purpose”

प्लेटो,सुकरात और अरस्तु पश्चिम दर्शनशाष्त्र के महान दार्शनिकों में से एक थे।उनका जन्म  Stagira ग्रीस में हुआ था। अरस्तु प्लेटो के शिष्य और सिकंदर के गुरु थे।।उनका प्रसिद्ध ग्रन्थ पॉलिटिक्स है।

 

उन्होंने भौतिक, अध्यात्म, नाटक, संगीत, तर्कशाष्त्र, राजनीतिशाष्त्र कई विषयों पर रचना की थी, लेकिन उनकी रचनाओं का अधिकांश भाग नष्ट हो गया। उनकी रचनाओं का केवल एक तिहाई भाग ही मौजूद है।

उनकी book  ”De Anima”( On The Soul) मनोविज्ञान (Psychology) की पहली book मानी जाती है। उनके दर्शन आज भी उच्च कक्षाओं में पढाये जाते हैं। बहुत से विद्वान् अरस्तु को True father of Psychology मानते हैं. उनका निधन ३२२ BC में हुआ।

अरस्तु के अनमोल विचार :-

1:मनुष्य प्राकृतिक रूप से ज्ञान की  इक्षा रखता है।

2: कोई भी उस व्यक्ति से प्रेम नहीं करता जिससे वो डरता है।

3: कोई भी क्रोधित हो सकता है- यह आसान है, लेकिन सही व्यक्ति से सही सीमा में सही समय पर और सही उद्देश्य के साथ सही तरीके से क्रोधित होना सबके बस की बात नहीं है और यह आसान नहीं है।

4: संकोच युवाओं के लिए आभूषण है, लेकिन बड़ी उम्र के लोगों के लिए धिक्कार।

5: जो सभी का मित्र होता है, वो किसी  नहीं का मित्र नहीं होता।

6‍: चरित्र को हम सभी अपनी बात मनवाने का सबसे प्रभावी माध्यम कह सकते हैं।

7: उत्कृष्टता वो कला है जो प्रशिक्षण और आदत से आती है। हम इसलिए सही कार्य कार्य नहीं करते कि हमारे अंदर अच्छाई  या उत्कृष्टता है, बल्कि वो हमारे अन्दर इसलिए है क्योंकि हमने सही कार्य किया है। हम वो हैं  जो हम बार बार करते है। उत्क्रष्ट्ता एक कला नहीं आदत है.

8: एक निश्चित बिंदु के बाद पैसे का कोई अर्थ नहीं रह जाता।

9: आलोचनाओं से बचने का एक ही तरीका है कि कुछ मत करो, कुछ मत कहो, कुछ मत बनो।

10: अपने आप को जानना ही ज्ञान की शुरुआत है।

11: सीखना कोई बच्चों का खेल नहीं है हम बिना दर्द के नहीं सीख सकते।

12: जितना ज्यादा आप जानोगे, उतना ज्यादा आप यह जानोगे कि आप कुछ नहीं जानते।

13: नौकरी  में ख़ुशी काम में निखार लाती है।

14: साहस सभी मानवीय गुणों में प्रथम है क्योंकि यह वह गुण है जो आपमें अन्य गुणों को विकसित करता है।

15: वो जो एकांत में खुश रहता है या तो एक जानवर होता है या भगवान।

16 दोस्तों के बिना  कोई भी जीना नहीं चाहता भले ही उसके पास अन्य सभी चीजें हों।

17: मनुष्य के सभी कार्य इन सातों में से किसी एक या अधिक वजहों से होते हैं: मौका, प्रकृति, मज़बूरी, आदत, कारण, जूनून, इक्षा।

18: अच्छी शुरुआत से आधा काम हो जाता है।

19: शिक्षा की जड़ें कड़वी होतीं है लेकिन फल मीठे होते हैं।

२०:लोकतंत्र तब है जब किसी अमीर की जगह कोई गरीब देश का शाशक हो

 

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Speak Your Mind

*