Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

ख्वाईशों का क्या है ये तो कम नहीं होती ।। ख्वाइश पर कविता

ख्वाइश पर कविता ख्वाईशों का क्या है ये तो कम नहीं होती परेशां कर देती हैं ये इनकी आदत खतम नहीं होती   एक के ख़तम होते ही नयी का  जनम होता है बस एक के बाद एक इनकी फितरत … [Read more...]

कल रात मेरी आँखों ने एक ख्वाव देखा था Hindi Poetry on dream

कल रात मेरी आँखों ने एक ख्वाव देखा था Hindi Poetry on dream कल रात मेरी आँखों ने एक ख्वाव देखा था ख्वावों में एक अजब सा इत्तेफाक देखा था    आरज़ू की कलियाँ खिल रहीं थीं … [Read more...]

राजा का अहंकार Hindi story on Ego

राजा का अहंकार Hindi story on Ego एक बार की बात है, एक राजा था। वह बड़ा अहंकारी था। उसे किसी ने बताया- बाबा फरीद से मिलकर उसमे बदलाव आ सकता है। राजा ने बाबा से मिलने का फैसला किया। वह बाबा के लिए … [Read more...]

अपना भाग्य खुद बदलें Hindi Story for create future

अपना भाग्य खुद बदलें Hindi  story for create future बहुत पुरानी बात है। वीरभद्र नाम के एक राजा थे। एक दिन उनके मन में एक सवाल उठा कि जब सबकुछ पहले से निश्चित है, तो हमारे कर्म करने का क्या औचित्य … [Read more...]

ए मेरे देश की नारी Hindi poetry on woman महिला दिवस पर कविता

ए मेरे देश की नारी महिला दिवस पर कविता Hindi Poetry on woman Friends... ये कुछ पंक्तियाँ मैंने अपने देश की नारियों के लिए लिखी हैं, जो Job नहीं करती,  मगर सारा परिवार उन पर Depend होता है। मेरे … [Read more...]

क्या सबब है कुछ फीका फीका सा है समां

क्या सबब है कुछ फीका फीका सा है समां Emotional Hindi Poetry क्या सबब है कुछ फीका-फीका सा है समां क्या वजह है कि कुछ रुका रुका सा है ये जहाँ   ख्वावों में भी शायद  तन्हाई है … [Read more...]