Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Positive Thinking can bring Happiness in your life Hindi Article

Secret of happiness

Hindi article on Positive thinking

Hindi article on Positive thinking

Hindi article on Positive thinking

खुश रहना भी एक कला है, इन्सान जब तक सिर्फ बाहर देखता रहता है वह दुखी रहता है। और जैसे ही वह अपने अन्दर झांकता है, उसे पता चलता है, ख़ुशी तो उसके अन्दर ही है।

हमारे दिमाग में Thoughts आते ही रहते है। कभी Positive तो कभी Negative,उन्हें रोकना संभव नहीं है। हमें ये लगता है कि ये Thoughts खुद-व-खुद आते हैं। इन पर हमारा कोई Control नहीं है। और हम कभी दुखी रहते हैं. कभी खुश।

जब हमारे Negative Thoughts बहुत बढ़ जाते है। तो हम दुखी हो जाते हैं. और जब हमारे Thoughts Positive होते हैं, तब हम खुश होते है।

Actually देखा जाये तो ये सारे Thoughts हमारे ही Creationहैं, जिनकी वजह से हम दुखी और खुश होते रहते हैं.।

अगर हम अपने Thoughts थोड़ा सा एकदम थोड़ा सा Control करना सीख लें तो खुश रहना आसान हो सकता है।लेकिन हमने सोच बना ली है। बहुत टेंशन है, बहुत काम है, ये करना है, वो करना है। ये सब Negative तरीके से सोच कर ही हम बहुत थक जाते हैं।

बहुत काम है तो फिर क्यूँ हम फेसबुक पर like check करने में अपना Time बर्बाद करते रहते है। हम उतने ज्यादा busy नहीं है, लेकिन Distraction बहुत ज्यादा है।

कई बार तो हम थके न भी हों और कोई आकर कह दे, आपके ऊपर बहुत जिम्मेदारी है बहुत प्रेशर है. तो हम वैसा ही सोचना Start कर देते है। जबकि हम अपनी जिम्मेदारी बड़े आराम से निभा रहे होते हैं। अगर हम चाहें तो ऐसे Negative Thoughts को तुरंत रोक सकते है।

अगर आप ध्यान दें तो जब आपके अन्दर Positive Thoughts चल रहे होंगे, तो आपको ख़ुशी महसूस होगी। और जब Negative Thoughts चल रहे होंगे, तो दुःख महसूस होगा।

अब्राहिम लिंकन ने कहा है-

“ज्यादात्तर लोग उतने ही खुश रहते हैं, जितना वो अपने दिमाग में तय कर लेते हैं.”

इसलिए Friends जैसे ही आपके दिमाग में Negative Thoughts आते है उन्हें रोक दीजिये। क्योंकि पहले हमारे Mind में Thoughts आते हैं फिर वही Feelings में Convert हो जाते हैं। इसलिये  जितना हो सकें Negative Thoughts से बचें इसका यही तरीका है, कि हमेशा Positive सोचें.

हर इन्सान को हर Situation में Positive सोचना चाहिए। क्योंकि की जितना ज्यादा आप Positive सोचेंगे उतना ही आप खुश रहेंगे।

थोड़ा सा रुककर, अपने विचारों को देखें कि वो कहाँ जा रहे हैं। जैसे ही लगे कि वो गलत Direction में जा रहें हैं, उनका direction Change कर दें। क्योंकि आप अपने विचारों को रोक नहीं सकते सिर्फ उन्हें एक नई दिशा दे सकते हैं।

For Example- अगर आपका कोई Phone नहीं उठा रहा है, तो इसका मतलब ये नहीं कि वो आपको Ignore कर रहा है। हो सकता है वो इन्सान busy हो, या परेशान हो।

हम सारा दिन बहुत छोटी छोटी बातों को लेकर Negative सोचते रहते हैं और बेवजह परेशान रहते हैं।

“हमेशा ध्यान रखें आप शारीरिक कार्य से उतना नहीं थकते जितना की आप अपने नकारात्मक विचारों से थक जाते हैं”

जैसे ही आप अपने विचारों पर ध्यान देना start करेंगे आपकी ख़ुशी आपके ऊपर निर्भर होगी.

 

Please visit my You tube channel also.

You tube video देखने के लिए यहाँ क्लिक  करें.

 

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Comments

  1. Nice Article…..

  2. Mohd. Farooque Khan says:

    Really its a nice article on importance of positive thinking. Very inspirational

  3. How inspirning that thought is!

  4. बहुत अच्छी पोस्ट है। एसे ही पोस्ट डालते रहिये।

  5. Ajit Kumar says:

    Really nice blog.

  6. RAJESH sharma says:

    अच्छी पोस्ट है कृपया डालते रहे

  7. Ajit Pandey says:

    Bahut hi behtareen post hai ye, its such a nice post pryanka, mind blowing.

Speak Your Mind

*