Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

लैरी पेज की जीवनी Google founder Larry page biography in Hindi

लैरी पेज की जीवनी Google founder Larry page biography in Hindi

लैरी पेज की जीवनी Google founder Larry page biography in Hindi

लैरी पेज की जीवनी

Google founder Larry page biography in Hindi

राशि : मेष 

आयु : 45 साल

जन्म स्थान : लांसिंग, मिशिगन, यू.एस.

ऊंचाई: 1.81 एम

पत्नी : लुसिंडा साउथवर्थ

पिता: कार्ल पेज

माता : ग्लोरिया

भाई बहन: कार्ल विक्टर पेज जूनियर

शहर : मिशिगन

संस्थापक / सह-संस्थापक : Google 

डिस्कवरी / आविष्कार : गूगल  सर्च इंजन

आय : $ 47 बिलियन

 

लैरी पेज की सफलता की कहानी Google founder Larry page biography in Hindi

गूगल जिसकी वजह से आज हमारी ज़िंदगी इतनी आसान हो गयी है चाहे हमें कोई जानकारी चाहिए हो या हम कोई रास्ता भूल गए हों या हमें अपनी पढ़ाई से सम्बंधित कोई जानकारी चाहिए हो ऐसी तमाम जानकारियाँ हम अपने घर बैठे गूगल के द्वारा जान सकते हैं।

इस बात से आज हम सभी वाक़िफ़ हैं कि गूगल आज दुनिया की सबसे सफल कम्पनीयों में से एक है

लैरी पेज एक अमेरिकी कम्प्यूटर वैज्ञानिक और एक उधोगपति हैं। उन्होंने सर्गी  ब्रिन के साथ मिलकर गूगल इंक और सर्च इंजन  की स्थापना की, जैसा कि आप सभी जानते हैं सर्च इंजन  इंटरनेट उत्पादों और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है।

Google  आज एक  ऑनलाइन सर्च फर्म बन चुका है  और धीरे- धीरे अन्य इंटरनेट से संबंधित क्षेत्रों में विस्तारित किया जा रहा है।

 

बचपन और प्रारम्भिक जीवन

लैरी पेज का जन्म मिशिगन में हुआ। उनकी माता का नाम गलेरिया पेज था। और पिता का नाम कार्ल विक्टर था।  उनके माता-पिता दोनों कंप्यूटर विज्ञान प्रोफेसर थे। उनका बचपन का घर कंप्यूटर और विज्ञान पत्रिकाओं से भरा था, और इसलिए  कम उम्र में ही  उनका प्रौद्योगिकी के प्रति आकर्षण बढ़ गया।

वह व्यवसाय और नवाचार में भी रूचि रखते थे, और 12 साल की उम्र में उन्हें एहसास हुआ कि वह एक कंपनी शुरू करना चाहते हैं। उन्होंने 1991 में ईस्ट लांसिंग हाई स्कूल से स्नातक की उपाधि प्राप्त की और मिशिगन विश्वविद्यालय से कंप्यूटर इंजीनियरिंग में स्नातक की उपाधि प्राप्त की।

बाद में, उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से कंप्यूटर विज्ञान में अपने मास्टर ऑफ साइंस के लिए दाखिला लिया।वे अपने प्राथमिक विद्यालय के “पहले बच्चे थे, जिन्होंने वर्ड प्रॉसेसर से एक नियत कार्य पूरा किया।

गूगल की स्थापना और विकास

स्टैनफोर्ड में पीएचडी के दौरान, 1 99 5 में एक शोध परियोजना पर काम करते हुए उनकी साथी शोधकर्ता सर्गी  ब्रिन से मुलाकात हुई ।उस वक़्त इंटेरनेट पर सिर्फ़ दो ही सर्च इंजन मौजूद थे, एक yahoo और दूसरा ecxite। इन दोनों पर ही जानकारी धूधने में काफ़ी वक़्त लगता था साथ ही साथ जानकारी सही भी नहीं मिलती थी।

अब लैरी पेज और ब्रिन एक ऐसी Algorithm  बनाने में लग गए जिससे सारी वेबसाइट  को एक साथ ला सकें। और उनकी पॉप्युलैरिटी के आधार पर उन्हें पेज रैंक दी जा सके।

पेज और ब्रिन ने एक कंपनी के रूप में अपनी परियोजना को शामिल करने का फैसला किया।

अंत में अपनी कड़ी मेहनत के बाद 1996 में  उन्होंने एक सर्च  इंजन बनाया – जिसे शुरुआत में ‘बैकरब’ कहा जाता था। इसे कई महीनों तक उन्होंने स्टैनफोर्ड सर्वर पर संचालित किया गया था।

बहुत ही जल्द गूगल दुनिया का सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन बन गया।

गूगल का नाम गणित शब्द googol से लिया गया है। जिसका मतलब है एक के पीछे 100 शून्य।लेकिन इसका डोमेन Name ragister करते समय googol की जगह google टाइप हो गया था। तब से इसका नाम गूगल ही हो गया।

सितंबर 1 99 8, इस परियोजना को अब ‘Google’ के रूप में नामित किया गया था,  और आधिकारिक तौर पर एक कंपनी के रूप में शामिल किया गया था। 2001 में एरिक श्मिट को सीईओ नियुक्त किया गया था, जबकि पेज  और ब्रिन क्रमशः उत्पादों और प्रौद्योगिकी के अध्यक्ष बने।

2004 में, Google ने सोशल नेटवर्किंग साइट ऑर्कुट लॉन्च की और Google डेस्कटॉप खोज शुरू की।

उसी वर्ष, Google ने अपनी प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) आयोजित की। Google.org का गठन सामाजिक मुद्दों और कारणों के प्रति योगदान करने के लिए किया गया था।

वर्ष 2005 Google के लिए काफी उत्पादक था। Google मानचित्र, ब्लॉगर मोबाइल, Google रीडर, और iGoogle को उस वर्ष रिलीज़ किया गया था। अगले वर्ष, Google ने यूट्यूब की शुरुआत की।और जीमेल में चैट फीचर पेश किया।

जनवरी 2011 में, लैरी पेज को सीईओ बनाया गया था। पूर्व सीईओ एरिक श्मिट, कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में कंपनी की सेवा जारी रखी । Google ने अपने ग्राहकों को बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिए एडमेल्ड और ज़ागैट को चुना ।

 

प्रमुख कार्य

लैरी पेज का सबसे बड़ा काम Google का गठन है। 1 99 8 में स्थापित Google, दुनिया के लाखों उपयोगकर्ताओं की सेवा करने वाला दुनिया का अग्रणी सर्च  इंजन बन गया है। सर्च  के अलावा, उन्होंने   गूगल  जीमेल, ब्लॉगर, गूगल  मैप्स, पिकासा इत्यादि जैसे कई अन्य उत्पादों और सेवाओं की पेशकश भी की है।

Google.org  चेरिटबल  कम्पनी को  2004 में बनाया गया था। यह संगठन भूख और गरीबी जैसी वैश्विक चुनौतियों का समाधान करने में मदद के लिए तकनीकी समाधान खोजने के लिए समर्पित है।

 

पुरस्कार और उपलब्धियां

2002 में, 35 वर्ष से कम उम्र में पेज और ब्रिन का नाम एमआईटी टेक्नोलॉजी रिव्यू टीआर100 में  विश्व के टॉप  100 इनवेटर्ज़  में  रखा  गया था।

विश्व आर्थिक मंच ने 2002 में  ग्लोबल लीडर फ़ॉर tomorrow के रूप  में पेज  का नाम दिया।

पेज और ब्रिन ने प्रतिष्ठित मार्कोनी फाउंडेशन पुरस्कार (2004) प्राप्त किया जिसे विज्ञान और प्रौद्योगिकी में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए दिया जाता है। वे कोलंबिया विश्वविद्यालय में मार्कोनी फाउंडेशन के फेलो भी चुने गए थे।

 

व्यक्तिगत जीवन और विरासत

लैरी पेज ने 2007 में एक शोध वैज्ञानिक लुसींडा साउथवर्थ से शादी की। उनसे उनका एक बच्चा भी है।उनकी पत्नी अभिनेत्री और मॉडल कैरी साउथवर्थ की बहन है।

हालांकि उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में पीएचडी के लिए दाखिला लिया, लेकिन वह अपने व्यापारिक उद्यमों के कारण इसे पूरा नहीं कर सका। उनके भाई कार्ल पेज जूनियर भी एक इंटरनेट उद्यमी है।

 

कुल आय Net worth

फोर्ब्स के अनुसार, लैरी पेज की कुल आय  $ 39.1 बिलियन है। फोर्ब्स की अरबपति सूची में वह 12 वें स्थान पर हैं।

 

Friends अगर आपको ये Post  ” लैरी पेज की जीवनी Google founder Larry page biography in Hindi ”  पसंद आई हो तो आप इसे Share कर सकते हैं.

कृपया Comment के माध्यम से हमें बताएं आपको ये पोस्ट Google founder Larry page biography in Hindi  कैसी लगी.

 

FOR VISIT MY YOUTUBE CHANNEL

CLICK HERE

 

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Comments

  1. Most inspirational biography Banna hai to larry page ke page ki page google ki tarah jo sabke kaam aaye.

Speak Your Mind

*