Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

न जाने क्या है इस खामोशी का सबब ।। Hindi poetry on Silence

न जाने क्या है इस खामोशी का सबब  Hindi poetry on Silence न जाने क्या है इस खामोशी का सबब बस यही अच्छी लगने लगी है अब   खामोश सी आँखे खामोश मुलाकातें बस यही बोलती रहती हैं … [Read more...]

यूँ ही बेसबब न फिरा करो ।। Hindi Shayari of Basheer Badra

यूँ ही बेसबब न फिरा करो ।। Hindi Shayari of Basheer Badra Written by "Basheer Badra"   यूँ ही बे-सबब न फिरा करो, कोई शाम घर में भी रहा करो वो ग़ज़ल की सच्ची किताब है, उसे … [Read more...]

Dil aakhir tu kyun rota hai Hindi Poetry of Javed Akhtar

Dil aakhir tu kyun rota hai  Hindi Poetry of Javed Akhtar दिल आख़िर तू क्यूँ रोता है "जावेद अख़्तर" जब-जब दर्द का बादल छाया  जब ग़म का साया लहराया  जब आँसू पलकों तक आया  जब ये तनहा  दिल … [Read more...]

घर से निकल तो गई हूँ heart touching Hindi Poetry

घर से निकल तो गई हूँ heart touching Hindi Poetry ।। हिंदी शायरी दिलचस्प घर से निकल तो गई हूँ पर  पता ही नहीं है रास्ता कहाँ है जाना कहाँ है भटकने का तो सवाल ही नहीं है क्यूँ कि पता ही … [Read more...]

मुलाकात तो होनी थी हो गई ।। Hindi Shayari on Mulakat ।। मुलाकात पर कविता

मुलाकात तो होनी थी हो गई ।। Hindi Shayari on Mulakat ।। मुलाकात पर कविता मुलाकात तो होनी थी हो गई मगर हासिल क्या हुआ उस मुलाक़ात से चंद लम्हों की बात से आँखों से आँखे मिली सांसे भी कुछ … [Read more...]

नया साल ।। Hindi poem on New year ।। नए साल पर कविता

नया साल ।। Hindi poem on New year ।। नए साल पर कविता यूँ तो नया साल हर साल आता है पर बीते हुए साल की कुछ यादें भी लाता है पर ऐसा लगता है इस साल नया साल कुछ अलग सा आया है कुछ कुछ बदला … [Read more...]