Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

The Best short Essay on Diwali in Hindi दीपावली पर निबंध

The Best short Essay on Diwali in Hindi

The Best short Essay on Diwali in Hindi दीपावली पर निबंध

The Best short Essay on Diwali in Hindi दीपावली पर निबंध

दीपावली पर निबंध

शुभ दीपावली

भूमिका

हमारा देश भारत एक ऐसा देश है, जहाँ हर त्यौहार बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है। ये सारे त्यौहार हम सभी भारत वासियों की एकता का प्रतीक भी हैं। दीपावली भारत के सबसे बड़ेऔर प्रतिभाशाली  त्योहारों में से एक है। यह त्यौहार अन्धकार पर प्रकाश कि जीत का परिचय देता है। दीपावली का अर्थ है। दीप+अवली, अवली का अर्थ होता है  पंक्ति अर्थात दीपों की माला। इस दिन घर-घर में दीपक जलाए जाते हैं।

Last Year मेरे द्वारा दीवाली पर  लिखी गई विशेष Poetry पढने के लिए यहाँ CLICK करें

मनाने का कारण

‘तमसो मा ज्योतिर्गमय’ अर्थात् ‘अंधेरे से ज्योति अर्थात प्रकाश की ओर जाइए’

यह त्यौहार कार्तिक मास की अमावस्या के दिन मनाया जाता है। इस दिन भगवान् राम १४ वर्ष का वनवास पूरा करके अयोध्या वापस आये थे। उनके स्वागत में अयोध्यावासियों अमावस्या की काली रात को दीपों से प्रकाशमय कर दिया था। सारा अयोध्या रौशनी से जगमगा उठा था। तब से यह त्यौहार हामारे देश में मनाया जा रहा है।

इस पावन इतिहास के अतिरिक्त जैन धर्म के अनुयायिओं का मत है कि दीपावली के ही दिन महावीर स्वामी जी को निर्वाण मिला था। सिक्ख धर्म को मनानेवाले कहते हैं कि इसी दिन उनके छठे गुरु श्री हर गोविन्द सिंह जी को जेल से रिहा किया गया था।

कैसे मानते हैं दीपावली

दीवाली को मनाने की तैयारी लोग एक महीने पहले से शुरू कर देते हैं। लोगो अपने घर और दुकानों को साफ़ सुथरा करते हैं। रंग- रोगन करवाते है। नए कपड़े लेते हैं। कई तरह की लाईट से अपने घर और ऑफिस को सजाते है।

दीपावली  से दो दिन पहले, त्रयोदशी ‘धनतेरस’ के रूप में मनाई जाती है। इस दिन लोग नया बर्तन, सोना ,चांदी आदि खरीदते हैं। अगले दिन  चतुर्दशी- ‘नरक-चतुर्दशी’ या छोटी दीपावली मनाई जाती है। इस दिन भगवान् श्री कृष्ण ने नरकासुर नाम के दैत्य का वध किया था अमावस्या के दिन दिवाली मनाई जाती है।

इस दिन लोग लक्ष्मी गणेश का पूजन करते हैं. प्रसाद लगाते हैं। तरह- तरह के पकवान और मिठाइयाँ बनाते हैं. बच्चे फुलझड़ी और  पटाखे चलाते हैं। दीपावली से अगले दिन गोवर्धन पूजा होती है । इन दिन कृष्णजी ने गोवर्धन पर्वत उठाकर गोकुलवासियों को इंद्र के प्रकोप से बचाया था । द्वितीय को भैया दूज मनाई जाती है. लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को उपहार देते हैं।

उपसंघार

दीवाली भारत का एक राष्ट्रीय एवं सांस्कृतिक पर्व है। इसके महत्त्व को बनाये रखना अत्यंत आवश्यक है। कई लोग इस दिन शराब पीते हैं और जुआ खेलते हैं।

हमें  जुआ खेलने और शराब पीने वालों का विरोध करना चाहिए।इस पवित्र त्यौहार कि महिमा को बनाये रखना चाहिए। तभी हम ऐसे पर्वों के प्रति श्रद्धा और आस्तिकता का परिचय दे सकते हैं।पर्व देश और जाति की सबसे बड़ी सम्पत्ति हैं । इनके महत्त्व को समझना तथा इसके आदर्शों का पालन करना चाहिए। प्रत्येक भारतवासी का यह परम कर्त्तव्य है कि वे इम महान पर्व को सामाजिक कुरीतियों से बचाए।

 

Friends अगर आपको ये Post “The Best short Essay on Diwali in Hindi दीपावली पर निबंध” पसंद आई हो तो आप इसे Share कर सकते हैं और Comment भी कर सकते हैं।

VISIT MY YOUTUBE CHANNEL ALSO

CLICK HERE

ये भी जरुर पढ़ें:-

माँ हिंदी कविता

जिन्दगी पर कविता

तुझे खुद से प्यार करना है अगर

नारी का सम्मान

आखिर क्यों नहीं चाहते लोग बेटी

खुश रहने का तरीका

 

 

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Speak Your Mind

*