Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

पर्यावरण पर कविता Hindi Poetry on Environment

पर्यावरण पर कविता

Hindi Poetry on Environment

पर्यावरण पर कविता Hindi Poetry on Environment

पर्यावरण पर कविता Hindi Poetry on Environment

पेड़ों की छाया में ही तो

पंछियों का रैनबसेरा है

इनके होने से हम हैं

और कहते जीवन मेरा है

 

गौर से देखो जरा इन्हें

ये भी तो कुछ कहते हैं

फूल, फल, हवा, सुगंध

ये सब देते रहते हैं

 

मीठे- मीठे फल इनके

बच्चों को कितना भाते हैं

इनका ही तो रस लेकर

भँवरे मस्त मगन हो जाते हैं

 

पत्तियाँ, कभी ताज़ी हरी तो कभी

सूखकर सुनहरी   हो जाती हैं

इन्हें देखकर कोयल भी तो

देखो नगमें कैसे गाती है

 

देख इन्हें हर एक का दिल

ऐसे खुश हो जाता है

जैसे शीत लहर का झोंका

खुशियों के रंग लाता है

 

इनको गर जो काट गिराया

कैसे मिलेगी तुमको छाया

दर्द इन्हें भी होता होगा

चोट इन्हें भी लगती होगी

 

इनको जो काट गिराओगे

तुम भी तो न बच पाओगे

 

इनसे हम हैं हम से ये हैं

इनसे ही हैं साँसे अपनी

इनके बिना न जीवन अपना

इनकी रक्षा काम है अपना

 

हर एक जो पेड़ लगाएगा

वो नेक काम कर जायेगा

जो समझेगा दर्द को इनके

इन्सान वही कहायेगा

 

MUST WATCH 

इस POEM का वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें 

 

 

Friends अगर आपको ये Post “पर्यावरण पर कविता Hindi Poetry on Environment” पसंद आई हो तो आप इसे Share कर सकते हैं.

कृपया Comment के माध्यम से हमें बतायें आपको ये पोस्ट कैसी लगी।

 

FOR VISIT MY YOUTUBE CHANNEL

CLICK HERE

 

ये भी जरुर पढ़ें:-

हौंसला रख आगे बढ़ने का

उम्मीदें हसरतें ख्वाईशें तो बस

कोई शिकायत नहीं मुझे ये खुदा तुझसे

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Comments

  1. GURMEET SINGH says:

    IT IS FINE POEM ON ENVIRONMENT

  2. Mansi ratnani says:

    Best poetry on plants
    Keep it up!

  3. DHAIRYA VARSHNEY says:

    NICE POEM….WELL DONE……KEEP IT UP….

    WELL I WOULD LIKE YOU TO WATCH MY VIDEO ON YOUTUBE…..YOU MUST NEED TO TYPE DHAIRYA VARSHNEY…..THERE WILL MY 3 VIDEOS I HOPE YOU WILL LIKE THEM….DON”T FORGET TO LIKE AND SUBSCRIBE…..AND THE SPELLING OF THE SHOULD BE CORRECT….

  4. Ajeet yadav says:

    Thank you very mutch kavi jee

  5. Shreyansh says:

    Very good thinking keep it up

  6. Deepashree says:

    Very nice and inspiring poem

  7. Angel Markush says:

    Iss poem k kavi kon h.. ?? I need to know this.

  8. V. Good poetry is done here

Trackbacks

  1. […] पेड़ों की छाया पर्यावरण पर कविता  […]

Speak Your Mind

*